Doordarshan24 News

Latest Online Breaking News

छात्रा ने प्राइमरी स्कूल में पकड़ा गजब का कारनामा।

(उत्तर प्रदेश) यूपी के सरकारी स्कूलों को बेहतर बनाने की कोशिशों में सीएम योगी से लेकर शिक्षामंत्री और आला अधिकारी जुटे हुए हैं। न सिर्फ स्कूलों की सूरत बदली जा रही है बल्कि पढ़ाई का स्तर बेहतर बनाने की कई कवायद चल रही है। शिक्षकों को इसके लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। सरकारी स्कूलों को कान्वेंट से टक्कर दिलाने के लिए शिक्षकों को ऑनलाइन क्लास भी लेने का निर्देश दिया गया है। इसके लिए स्कूलों पर व्यवस्थाएं की गई हैं। सत्यापन के जरिये शिक्षकों के फर्जीवाड़े को भी लगातार पकड़ा जा रहा है। बीएसए और अन्य अधिकारियों को लगातार स्कूलों का निरीक्षण करने का भी निर्देश दिया गया है। बरेली में गुरुवार को विभिन्न छात्राओं को अलग अलग अधिकारियों की जिम्मेदारी दी गई है। बीएसए की जिम्मेदारी अपर्णा सिंह को दी गई है। अपर्णा एक स्कूल में निरीक्षण करने पहुंची तो वहां अजब कारनामा दिखाई दिया। प्राइमरी स्कूल नरियावल में ऑनलाइन क्लास की जगह एक मार्केटिंग कंपनी का प्रचार हो रहा था। वहां गांव वालों को जुटाकर मल्टीलेवल मार्केटिंग का गुर सिखाया जा रहा था। गुरुवार की सुबह बीएसए विनय सिंह से चार्ज लेने के बाद अपर्णा सिंह ने स्कूलों के निरीक्षण का कार्यक्रम बनाया। बीएसए विनय कुमार के साथ अपर्णा बिथरी ब्लॉक के प्राइमरी स्कूल नरियावल में पहुंची। यहां का नाजारा देख अपर्णा और बीएसए दंग रह गए। स्कूल में बच्चों की जगह गांव के लोग जुटे थे। टीचर बच्चों की ऑनलाइन क्लास की जगह गांव वालों को पढ़ा रही थीं। पता चला कि गांव वालों को मार्केटिंग कंपनी से कैसे कमाई की जाए, इसके बारे में ज्ञान दिया जा रहा था। मल्टीलेवल मार्केटिंग के बारे में शिक्षा दी जा रही थी। नामित बीएसए ने तत्काल प्रधानाध्यापिका पारुल चंद्रा को सस्पेंड करने की सिफारिश की। बीएसए ने पाया कि स्कूल में साफ सफाई भी नहीं है। ऑनलाइन कक्षाओं का विवरण भी चेक किया। अपर्णा की सिफारिश पर बीएसए ने अधिकारियों को भी इस बारे में जानकारी दी। किसान वीर सिंह और गृहणी साधना देवी की बेटी अपर्णा सिंह मिशन शक्ति से जुड़ने के बाद बरेली शहर आई थी। अपर्णा ने बताया कि 21 जनवरी को जिलाधिकारी ने उन्हें कलेक्ट्रेट बुलाया था। तब वे पहली बार बरेली आई थीं। आज मिशन शक्ति के तहत ही उन्हें दूसरी बार बरेली आने का अवसर मिला है। उनका सपना आईएएस अधिकारी बनने का है। उन्होंने कहा कि आज बीएसए की कुर्सी पर बैठने से मेरा खुद पर विश्वास बढ़ गया है। अब मुझे कोई भी आईएएस बनने से नहीं रोक सकता है। अपर्णा ने वसुंधरा हायर सेकेंडरी स्कूल सिरौली से पिछले वर्ष 88.33 फीसदी अंकों के साथ दसवीं की परीक्षा पास की थी। उनका स्कूल उनके गांव से आठ किलोमीटर दूर है। वो स्कूल के वाहन से आती जाती हैं।

अमित राघव की रिपोर्ट।

दूरदर्शन 24 न्यूज / आगरा  ब्यूरो चीफ।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

लाइव कैलेंडर

November 2021
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930  
error: Content is protected !!