Doordarshan24 News

Latest Online Breaking News

कमिश्नर ने सहायक संचालक कृषि चयन परीक्षा तैयारियों की समीक्षा।

मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा सहायक संचालक कृषि पद के लिये 28 फरवरी को ऑनलाइन चयन परीक्षा आयोजित की जा रही है। परीक्षा दोपहर 12 बजे से दोपहर बाद तीन बजे तक आयोजित होगी। इसके लिये पेंटियम प्वाइंट टेक्निकल कालेज को परीक्षा केन्द्र बनाया गया है। परीक्षा तैयारियों की समीक्षा बैठक कमिश्नर कार्यालय सभागार में आयोजित की गई। बैठक में रीवा संभाग के कमिश्नर राजेश कुमार जैन ने कहा कि पूरी सावधानी के साथ ऑनलाइन चयन परीक्षा आयोजित करें। लोक सेवा आयोग के निर्देशों का कठोरता से पालन करें। परीक्षा केन्द्र में केन्द्राध्यक्ष तथा सहायक केन्द्राध्यक्ष के अलावा किसी भी व्यक्ति को मोबाइल फोन ले जाने की अनुमति नहीं होगी। सभी परीक्षार्थी तथा परीक्षा कार्य में तैनात अधिकारी कर्मचारी अपने साथ मोबाइल फोन लेकर न आयें। कमिश्नर ने कहा कि परीक्षा केन्द्र में किसी भी तरह के इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, घड़ी, कैलकुलेटर आदि ले जाने की अनुमति नहीं होगी। परीक्षार्थियों को जूते उतारकर ही परीक्षा कक्ष में प्रवेश मिलेगा। परीक्षा केन्द्र में प्रवेश से पूर्व प्रत्येक परीक्षार्थी के आधार नम्बर के आधार पर ऑनलाइन सत्यापन करें। पूरी छानबीन के बाद ही परीक्षार्थियों को केन्द्र में प्रवेश दें। सभी परीक्षार्थी परीक्षा शुरू होने से एक घण्टे पूर्व परीक्षा केन्द्र में पहुंच जायें। ऑनलाइन परीक्षा के लिये जिला सूचना विज्ञान अधिकारी आवश्यक प्रबंध करें। परीक्षार्थियों को केन्द्र में पर्याप्त दूरी पर बैठायें। परीक्षा के तैयारियों का पूर्वाभ्यास 27 फरवरी को दोपहर 12 बजे से पेन्टियम प्वाइंट कालेज में किया जायेगा। सभी पर्यवेक्षक तथा संबंधित अधिकारी कर्मचारी इसमें अनिवार्य रूप से उपस्थित रहें। परीक्षा केन्द्र में बिजली की भी निर्बाध आपूर्ति की व्यवस्था करायें।
बैठक में डिप्टी कलेक्टर राहुल नायक ने बताया कि सहायक संचालक कृषि पद के लिये 153 उम्मीदवार परीक्षा में शामिल होंगे। इनके लिये तीन कक्षों में परीक्षा आयोजित की जायेगी। परीक्षा से संबंधित सभी निर्देश केन्द्राध्यक्ष, सहायक केन्द्राध्यक्ष तथा सभी वीक्षकों को दे दिये गये हैं। इनका भली भांति अध्ययन कर लें। बैठक में संयुक्त कलेक्टर अंजली द्विवेदी, परीक्षा के केन्द्राध्यक्ष डॉ. डीके जैन, सहायक केन्द्राध्यक्ष, उप संचालक सतीश निगम एवं सभी वीक्षक उपस्थित रहे।
क्रमांक-285-715-तिवारी-फोटो क्रमांक 01, 02 संलग्न हैं। गेंहू, चना, मसूर एवं सरसों की खरीदी के लिए पंजीयन की अंतिम तिथि आज रीवा 24 फरवरी 2021. किसानों को उनकी उपज का अधिकतम लाभ देने के लिये शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर फसल की खरीद की जायेगी। गेंहू, चना, मसूर एवं सरसों के उपार्जन के लिये किसानों का पंजीयन निर्धारित खरीदी केन्द्रों में किया जा रहा है। पंजीयन की अंतिम तिथि 25 फरवरी है। इस संबंध में जिला आपूर्ति नियंत्रक एमएनएच खान ने बताया कि केवल पंजीकृत किसानों से ही समर्थन मूल्य पर अनाजों की खरीद की जायेगी। सभी छूटे हुये किसान तत्काल अपना पंजीयन निर्धारित खरीदी केन्द्रों में करा लें। पंजीयन कराने के लिये किसान एप का भी उपयोग किया जा सकता है। आवश्यक अभिलेखों के साथ खरीदी केन्द्रों में जाकर किसान पंजीयन कराकर समर्थन मूल्य में खरीदी का लाभ लें।
क्रमांक-286-716-तिवारी गेंहू उपार्जन के लिए एमपी किसान एप पर भी किसान करा सकते हैं पंजीयन रीवा 24 फरवरी 2021. किसानों को उनके उपज का अधिकतम मूल्य देने के लिए समर्थन मूल्य पर गेंहू की खरीद सहकारी समितियों के माध्यम से की जायेगी। इसके लिए किसानों का पंजीयन 25 फरवरी तक किया जा रहा है। किसान अपने नजदीकी केन्द्र में जाकर आवश्यक अभिलेख देकर कार्यालयीन समय में पंजीयन ऑनलाइन करा सकते हैं। पात्र किसान एमपी किसान एप तथा ई-उपार्जन पोर्टल पर भी अपना पंजीयन करा सकते हैं। पंजीकृत किसानों से शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य 1975 रूपये प्रति Ïक्वटल की दर से गेंहू की खरीद की जायेगी क्रमांक-287-717-तिवारी टीबी की बीमारी लाईलाज नहीं है -डॉ अनुराग शर्मा उपस्वास्थ्य केन्द्र कटरा में स्वास्थ्य शिविर संपन्न रीवा 24 फरवरी 2021. राष्ट्रीय क्षय नियंत्रण कार्यक्रम के तहत जिले भर में क्षय रोगियों की पहचान तथा जांच के लिये शिविर लगाये जा रहे हैं। इस क्रम में स्वास्थ्य केन्द्र कटरा त्योंथर में नि:शुल्क जांच शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में 46 संभावित क्षय रोगियों की जांच की गई। इनमें से 17 रोगियों के स्पुटम (खंखार) के नमूने लिये गये। इस संबंध में जिला क्षय अधिकारी डॉ. अनुराग शर्मा ने बताया कि शिविर में 36 रोगियों की एचआईवी जांच, 29 रोगियों की ब्लड शुगर की जांच तथा 27 रोगियों के रक्तचाप की जांच की गई। डॉ. केबी पटेल द्वारा रोगियों की जांच एवं उपचार किया गया।
जिला क्षय अधिकारी द्वारा आये हुये रोगियों को टीबी, एचआईव्ही के साथ साथ स्वास्थ्य सम्बंधित जानकारी प्रदान की गई। उन्होंने कहा कि अगर आप के आसपास टीबी के लक्षणों का कोई मरीज मिले तो उसकी जांच नजदीकी स्वास्थ्य केंद में ले जाकर अवश्य करायें। टीबी असाध्य रोग नहीं है। नियमित रूप से इसकी दवा खाने पर रोगी शीघ्र ही पूरी तरह से स्वस्थ हो जाता है। टीबी की दवा स्वास्थ्य केन्द्र से नि:शुल्क दी जाती है। साथ ही उपचार होने तक रोगी को 500 रुपये प्रतिमाह पोषण आहार के लिये राशि भी दी जाती है। उन्होंने रीवा को टीबी रोग से मुक्त बनाने में सहयोग की अपील की। शिविर में स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी, आशा कार्यकर्ता तथा आमजन उपस्थित रहे क्रमांक-288-718-तिवारी-फोटो क्रमांक 03, 04 संलग्न हैं। मुख्यमंत्री 27 फरवरी को करेंगे किसान कल्याण योजना की राशि का वितरण
मुख्यमंत्री 27 को ऑनलाइन करेंगे किसानों को राशि जारी रीवा 24 फरवरी 2021. पात्र किसानों को मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना से हर वर्ष चार हजार रूपये की राशि दी जाती है। यह राशि दो किश्तों में किसानों के बैंक खाते में सीधे जारी की जाती है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान 27 फरवरी को प्रदेश के किसानों को मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना की राशि ऑनलाइन जारी करेंगे। कार्यक्रम दोपहर 3 बजे से आरंभ होगा। जिला तथा विकासखण्ड स्तर पर आयोजित कार्यक्रमों में मुख्यमंत्री जी के उद्बोधन का सजीव प्रसारण दिखाया जायेगा।
क्रमांक-289-719-तिवारी ट्रांसमिशन लाइनों का निर्माण बारिश से पूर्व पूरा करें – प्रबंध संचालक रीवा 24 फरवरी 2021. मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेड के प्रबंध संचालक सुनील तिवारी ने वीडियो कान्फ्रेसिंग द्वारा मैदानी अभियंताओं की समीक्षा बैठक में कहा कि निर्धारित लक्ष्य के अनुसार सभी कार्य तय सीमा में 31 मार्च तक पूर्ण कर लें। बैठक में मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंता तथा कार्यपालन अभियंता सम्मिलित थे।
प्रबंध संचालक ने वर्तमान में निर्माणाधीन अति उच्चदाब सब स्टेशन व अति उच्चदाब ट्रांसमिशन लाइनों के निर्माण की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने निर्माण में आ रही कठिनाईयों का शीघ्र निराकरण करने एवं उन्हें समय पर चार्ज करने के संबंध में निर्देश दिये। वर्तमान में जारी ट्रांसमिशन लाइनों के निर्माण का काम बरसात के पहले 15 जून तक अनिवार्य रूप से पूरा कर लें। सब स्टेशन व लाइनों के कार्य प्रगति की लगातार मानिटरिंग करें। आर.ओ.डब्ल्यू आदि के निराकरण के लिये राजस्व विभाग तथा प्रशासन के अधिकारियों से सतत संपर्क में रहें, ताकि लाइन निर्माण कार्य लक्ष्य के अनुसार पूर्ण किए जा सकें। निर्माण कार्यो में सामग्री की गुणवत्ता का लगातार ध्यान रखा जाये साथ ही यह सुनिश्चित करें कि कार्य निर्धारित मापदण्डों के अनुसार हों।प्रबंध संचालक ने अति उच्च दाब लाइनों और सब स्टेशनों में लोड की समीक्षा की। उन्होंने भविष्य में आने वाले विद्युत लोड को बिना बाधा के ट्रांसमिट किए जाने के लिये आवश्यक कार्यों को भी समय से पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मार्च से रबी सीजन का लोड कम होने लगता है, अतः सभी विभाग समन्वय बनाकर शट डाउन की कार्य योजना बनाएं। उन्होंने कहा कि यह समय तेजी से कार्य करने का है, क्योंकि इस समय फसल कटती है व खेत खाली होते हैं, अतः कार्य करना आसान हो जाता है।
क्रमांक-290-720
विद्याशिल्प विद्यालय में आयोजित हुआ विधिक साक्षरता शिविर रीवा 24 फरवरी 2021. जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष श्री अरूण कुमार सिंह के मार्गदर्शन में विद्याशिल्प स्कूल में नालसा बालकों हेतु विधिक सेवा योजना के तहत विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। अपर जिला न्यायाधीश एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री विपिन कुमार लवानिया ने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि बच्चे देश की धरोहर है। यदि इनका वर्तमान अच्छा रहेगा तो भविष्य में जिम्मेदार नागरिक बनेगे और देश की बागडोर इनके हाथ में होगी। उन्होंने मौलिक अधिकारों की जानकारी देते हुए कहा कि मौलिक अधिकार बच्चों के चहुमुखी विकास के लिये आवश्यक है और मौलिक अधिकारों के साथ मौलिक कर्तव्यों का पालन करना भी आवश्यक है। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री सुबोध कुमार विश्वकर्मा ने कहा कि 18 वर्ष से कम आयु के बालको हेतु मोटर बाईक चलाना प्रतिबंधित किया गया है। 16 से 18 वर्ष के बालक 50 सीसी की बाईक ही लाईसेंस प्राप्त कर चला सकते है। उन्होंने कहा कि हेलमेट का प्रयोग अवश्य करें और मोटरयान कानूनों का पालन करें। जिला विधिक सहायता अधिकारी अभय मिश्रा ने साइबर क्राइम एवं नि:शुल्क विधिक सहायता योजना के बारें में जानकारी देते हुए कहा कि समाज के कमजोर वर्गो को विधिक सहायता प्रदान करने के लिए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की स्थापना की गई है। उन्होने कहा कि बालकों के साथ यदि कोई अन्याय होता है तो उन्हें भी नि:शुल्क विधिक सहायता का अधिकार है। छात्र-छात्राओं को नशे की हानि के संबंध में जानकारी दी गई एवं नशा न करने की शपथ भी दिलवायी गयी। शिविर में आभार प्रदर्शन संचालिका श्रीमती अनुराधा श्रीवास्तव ने किया एवं संचालन विद्यालय के प्राचार्य श्री राजकुमार तिवारी ने किया। शिविर में विद्याशिल्प विद्यालय के छात्र-छात्राए एवं शिक्षक-शिक्षिकाएं उपस्थित थे।
क्रमांक-291-721-मिश्रा-फोटो क्रमांक 05 संलग्न है।
सभी आहरण एवं संवितरण अधिकारी आज करें वेतन जनरेट
रीवा 24 फरवरी 2021. वरिष्ठ कोषालय अधिकारी आरडी चौधरी ने कहा है कि सभी आहरण एवं संवितरण अधिकारी नियमित एवं अनियमित कर्मचारियों, अध्यापक संवर्ग तथा शिक्षाकर्मियों की फरवरी माह का वेतन आज 25 फरवरी 2021 तक अनिवार्य रूप से जनरेट कर कोषालय में प्रस्तुत करें। जिससे समस्त कर्मचारियों की वेतन एक मार्च को भुगतान किया जा सके। विशेष परिस्थिति के अलावा किसी भी कर्मचारी का वेतन न रोका जाय अन्यथा विलंब से भुगतान की स्थिति में डीडीओ स्वयं जिम्मेदार होंगे, क्योंकि वेतन भुगतान से संबंधित मॉनीटरिंग वित्त विभाग द्वारा की जा रही है। उन्होंने कहा है कि सातवें वेतनमान की एरियर की तृतीय किश्त शीघ्र जनरेट कर भुगतान करने की कार्यवाही की जाय जिससे समस्त कर्मचारियों को इसका लाभ मिल सके। इसके साथ ही बजट से संबंधित जो भी देयक हैं उनके बिल भी कोषालय में सबमिट कर दें जिससे कि बजट लैप्स न हो तथा भुगतान की कार्यवाही की जा सके।
क्रमांक-292-722-मिश्रा
महाराणा प्रताप शौर्य राज्य पुरस्कार के प्रस्ताव 2 मार्च तक आवेदन आमंत्रित रीवा 24 फरवरी 2021. सामान्य प्रशासन विभाग ने जानकारी दी है कि महाराणा प्रताप शौर्य राज्य पुरस्कार के प्रस्ताव आमंत्रित किए जा रहे हैं। जिसमें आवेदन प्रस्तुत करने की अवधि 30 दिवस नियत है यह अवधि 2 मार्च 2021 को समाप्त होगी एवं जिला स्तर पर प्राप्त होने वाले आवेदन पत्रों के संबंध में वर्ष 2020 में प्रदान किए जाने वाला पुरस्कार एक जनवरी 2020 से 31 दिसंबर 2020 तक आवेदकों द्वारा किए गए उल्लेखनीय साहस और वीरता पूर्ण कार्य के लिए ही दिया जाएगा।
क्रमांक-293-723-मिश्रा
अन्तर्जातीय विवाह योजना के अन्तर्गत दो दम्पत्तियों
को 4 लाख रूपये की सहायता स्वीकृत रीवा 24 फरवरी 2021. अनुसूचित जाति के कृष्णा द्वारा पिछड़ावर्ग की अराधना से विवाह करने और अनुसूचित जाति के रोहित द्वारा दीपिका से विवाह करने पर अन्तर्जातीय विवाह योजना के अन्तर्गत प्रत्येक दम्पत्ति को 2 लाख रूपये के मान से 4 लाख रूपये की प्रोत्साहन राशि स्वीकृत की गयी है। जिला संयोजक केपी पाण्डेय ने बताया कि योजना के अन्तर्गत अनुसूचित जाति के युवक द्वारा किसी पिछड़ावर्ग की युवती से विवाह करने पर दम्पत्ति को 2 लाख रूपये की आर्थिक सहायता दी जाती है क्रमांक-294-724-मिश्रा
निर्वाचन से संबंधित वीडियो कान्फ्रेंसिंग आज रीवा 24 फरवरी 2021. कलेक्टर इलैयाराजा टी ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचक नामावली से प्रारूप 7 के आधार पर मतदाता का नाम निरसन के संबंध में जारी नवीन निर्देश के अनुक्रम में आज 25 फरवरी को शाम 4 बजे से 5 बजे तक वीडियो कान्फ्रेंसिंग का आयोजन किया गया। उन्होंने समस्त रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों को वीडियों कान्फ्रेंसिंग में उपस्थित रहने के निर्देश दिये हैं।
क्रमांक-295-725-मिश्रा हैण्डलूम एक्सपो में छत्तीसगढ की कोसा साड़ी महिलाओं की पहली पसंद रीवा 24 फरवरी 2021. मार्तण्ड स्कूल क्रमांक 3 ग्राउण्ड में आयोजित स्पेशल हैण्डलूम एक्सपो में आये हुये छत्तीसगढ़ के स्टाल पर कोसा साडी एवं कोसा ड्रेस मटेरियल को देखकर ग्राहकों के मन में यह सवाल उठ रहा है, कि कोसा साडी इतनी प्रचलित है, आखिर यह कैसे बनती है, आये हुये बुनकर ने इसकी विस्तृत जानकारी में बताया कि आलू के समान एक फल होता है उसे कोसाफल या कुकून कहते हैं, इस फल के अंदर एक कीडा होता है वही कीडा फल के अंदर रेश का जाल बुनता रहता है, इस फल को उबालने से एकदम पतले रेशा निकलते हैं, जिसे हम कोसा धागा या सिल्क कहते हैं, इसी धागे से कोसा साडी या सिल्क के वस्त्र बनते हैं, कोसा साडी की खास बात यह है कि यह सिर्फ हैण्डलूम पर ही बन सकती है, मशीन पर इसका निर्माण नहीं किया जा सकता है। कोसा सिल्क धागा 4000 रूपये किलो तक आता है एवं एक साडी बनने में कभी कभी दो-दो माह का समय लग जाता है, जिससे इसकी लागत अधिक हो जाती है, यह साडी 10-15 वर्षों तक खराब नहीं होती है। इसमें विशेष यह है कि हिन्दू रीति के अनुसार कोसा सिल्क से बने हुये परिधान पहनकर पूजा करना बहुत ही शुभ माना जाता है। छत्तीसगढ से आये हुये बुनकर ने बताया कि कोसा साडी विदेशातक में एक्सपोर्ट की जाती है। एक्सपो के प्रभारी अधिकारी श्री एस.के. लिमजे द्वारा जानकारी दी गई कि पहली बार आयोजित एक्सपो में आये हुये ग्राहकों में काफी उत्साह देखा जा रहा है क्रमांक-296-726-मिश्रा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में सी.टी. के माध्यम से की गई कोरोनरी एजियोग्राफी रीवा 24 फरवरी 2021. सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल ह्मदय रोगियों के लिये जीवनदायक सिद्ध हुआ है। यहां चिकित्सा विशेषज्ञों द्वारा ह्मदय रोगियों की एजियोग्राफी की जाने लगी है। आज सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के रेडियोलॉजी विभाग द्वारा सी. टी. के माध्यम से कोरोनरी एजियोग्राफी की गई। सी.टी. कोरोनरी एजियोग्राफी वह पद्धति है , जिसके द्वारा सी. टी. के माध्यम से ह्मदय रोगी पीडित मरीज के ह्मदय में होने वाले ब्लॉकेज को बिना किसी शल्य क्रिया ( चीड़ – फाड़ ) के ब्लॉकेज को देखा जा सकता है। अस्पताल में आये सबधित मरीज को विगत 15 दिनों से छाती में दर्द की शिकायत थी, जिसका उपचार डॉ . व्ही. डी. त्रिपाठी विभागाध्यक्ष कार्डियोलॉजी विभाग के मार्गदर्शन में चल रहा है। डॉ. अक्षय श्रीवास्तव अधीक्षक सुपर स्पेशलिटी अस्पताल ने बताया कि मरीज के दिल की जांच केवल दवाई डालकर बिना चीरा या ऑपरेशन के की गई है , जिससे उसकी दिल की धमनियों का अवरोध पता चल सके । विंध्य क्षेत्र में ये जाच सर्वप्रथम सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में संचालित अत्याधुनिक सी. टी. स्कैन (128 स्लाईस ) से ही संभव है तथा सी.टी. कोरोनरी एंजियोग्राफी प्रोसिजर द्वारा भविष्य में बिना किसी शल्य किया के मरीजों को परीक्षण कर उच्च स्तरीय उपचार दिया जाना अपेक्षित रहेगा। डॉ. सुदीप्त द्विवेदी रेडियोलॉजिस्ट द्वारा बताया गया है कि इस जाच में दिल के मरीजो का बेहतर ईलाज संभव है एवं अभी तक सीटी स्कैन मशीन द्वारा 100 से अधिक मरीजों का परीक्षण किया जा चुका है क्रमांक-297-727-मिश्रा-फोटो क्रमांक 06, 07 संलग्न हैं।
शासन के आदेश से ही लगा सकेंगे नाइट कर्फ्यू रीवा 24 फरवरी 2021. अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा ने बताया है कि कोविड महामारी की रोकथाम के क्रम में कलेक्टरों द्वारा जिलों में नाइट कर्फ्यू लगाया जा सकेगा। उन्होंने स्पष्ट कहा है कि किसी भी जिले द्वारा नाइट कर्फ्यू लगाने के पूर्व उसे मध्यप्रदेश शासन से अनिवार्य रूप से अनुमति लेना होगी। डॉ. राजौरा ने बताया कि मध्यप्रदेश के सीमावर्ती प्रदेश महाराष्ट्र में कोरोना के प्रकरणों अप्रत्याशित वृद्धि हुई है। मध्यप्रदेश में कोरोना महामारी की रोकथाम के लिये विभिन्न स्तरों पर मॉनीटरिंग की जा रही है साथ ही आवश्कतानुसार निर्णय भी लिये जा रहे हैं। बालाघाट कलेक्टर द्वारा जारी नाइट कर्फ्यू आदेश को स्थगित कर दिया गया है। बालाघाट में नाइट कर्फ्यू के संबंध में शासन स्तर पर बुधवार को निर्णय लिया जाएगा क्रमांक-298-728-मिश्रा मैदानी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को किया जायेगा प्रोत्साहित कर्मचारी ऑफ द मंथ के रूप में मिलेगा सम्मान रीवा 24 फरवरी 2021. महिला बाल विकास विभाग द्वारा मैदानी स्तर पर कार्यरत अधिकारियों एवं कर्मचारियों को उनके उत्कृष्ट कार्यों के लिये प्रोत्साहित करने का निर्णय लिया गया है। इसमें ओवर-ऑल परफॉरर्मेंस ग्रेडिंग के आधार पर आँगनवाडी कार्यकर्ता से लेकर परियोजना अधिकारी स्तर तक के उत्कृष्ट कर्मचारियों को ‘कर्मचारी ऑद द मंथ’ के रूप में चयनित किया जायेगा। चयनित अधिकारी एवं कर्मचारी को प्रतिमाह विभागीय एम.आई.एस. पोर्टल के होम पेज पर प्रदर्शित किया जायेगा।
विभाग द्वारा राज्य स्तर पर चयनित एक आँगनवाडी कार्यकर्ता और एक-एक पर्यवेक्षक और परियोजना अधिकारी को ‘कर्मचारी ऑफ द मंथ’ के रूप में चयनित किया जायेगा। संभाग स्तर पर एक-एक पर्यवेक्षक और परियोजना अधिकारी, जिला स्तर पर एक-एक आँगनवाडी कार्यकर्ता और पर्यवेक्षक तथा परियोजना स्तर पर ‘आँगनवाडी कार्यकर्ता ऑफ द मंथ’ के रूप में चयन किया जायेगा। परियोजना स्तर पर माह के उत्कृष्ट वर्कर का चयन संबंधित परियोजना अधिकारी द्वारा, जिला स्तर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा तथा संभाग स्तर के अधिकारी एवं कर्मचारी ऑफ द मंथ का चयन संबंधित संयुक्त संचालक द्वारा किया जाकर संचालनालय में प्रेषित किया जायेगा।
राज्य स्तर पर चयनित उत्कृष्ट कर्मचारी की फोटो, नाम सहित एवं अन्य स्तर पर चयनित उत्कृष्ट वर्कर्स के नाम की सूची पूरे माह विभागीय एम.आई.एस. पोर्टल पर प्रदर्शित की जायेगी। परियोजना, जिला एवं संभाग स्तर के नोटिस बोर्ड पर भी उनके नाम प्रदर्शित किये जायेंगे।
क्रमांक-299-729-मिश्रा जिलों में टेलेंट सर्च जिला खेल अधिकारी की जिम्मेदारी कोई बहाने बाजी नहीं मानी जायेगी रीवा 24 फरवरी 2021. खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा है कि खेल विभाग दो महत्वपूर्ण कम्पोनेन्ट पर विशेष रूप से कार्य कर रहा है। इसमें इन्क्लूसिव है राज्य में संचालित विभिन्न खेल अकादमियाँ और दूसरे एक्सक्लूसिव कम्पोनेन्ट है ग्रामीण परिवेश में टेलेंट सर्च की। यह दोनों महत्वपूर्ण जिम्मेदारियाँ जिला खेल अधिकारियों की होगी। श्रीमती सिंधिया सोमवार को मंत्रालय स्थित एनआईसी कक्ष में सीधी, सिंगरौली, भोपाल, विदिशा, गुना, सागर, टीकमगढ़, दमोह, पन्ना, जबलपुर, नरसिंहपुर, बालाघाट, मंडला, इंदौर, खरगौन, झाबुआ, धार, उज्जैन, बैतूल, रतलाम, रायसेन और सीहोर जिले के जिला खेल अधिकारियों से वर्चुअल चर्चा कर रही थी। खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि अब हर जिले के अधिकारियों के सहयोग के लिए पर्याप्त युवा समन्वयकों को जोड़ा गया है। उनसे अपेक्षा है कि अपने संबंधित जिले के हर तीन महीने, छ: महीने तथा साल भर की गतिविधियों की रिपोर्ट तैयार कर संचालनालय में प्रस्तुत करें। हर जिला खेल अधिकारी जिले में खेलों को लेकर नवाचार कर उन्हें क्रियान्वित भी करें क्रमांक-300-730-मिश्रा प्रदेश में अनुसूचित जाति वर्ग के 37 छात्रावास भवनों का निर्माण कार्य पूर्ण रीवा 24 फरवरी 2021. प्रदेश में अनुसूचित जाति वर्ग के विद्यार्थियों के लिये शैक्षणिक आवासीय सुविधा उपलब्ध कराने के मकसद से 37 छात्रावास भवनों का निर्माण कार्य पूरा किया गया है। वर्ष 2019-20 में राज्य मद से 43 नवीन छात्रावास भवनों के निर्माण के लिये करीब 108 करोड़ रूपये की राशि मंजूर की गई थी। इस वर्ष छात्रावास भवनों के निर्माण के लिये अनुसूचित जाति कल्याण विभाग द्वारा 50 करोड़ रूपये और मंजूर किये गये है।छात्रावासों का संचालन:- प्रदेश में अनुसूचित जाति वर्ग के विद्यार्थियों को आवास की सुविधा और पढ़ाई के लिये अनुकूल वातावरण उपलब्ध कराने के लिये बालक तथा बालिकाओं के लिये 1937 छात्रावास संचालित किये जा रहे है। इनमें करीब एक लाख विद्यार्थियों को शिक्षा के साथ आवासीय सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है। प्रदेश में अनूसुचित जाति वर्ग के बालकों के लिये 1009 और बालिकाओं के लिये 928 छात्रावास संचालित किये जा रहे है। इन छात्रावासों में से 108 महाविद्यालयीन छात्रावास बालकों के लिये एवं 81 महाविद्यालयीन छात्रावास बालिकाओं के लिये संचालित किये जा रहे है क्रमांक-301-731-मिश्रा महाराष्ट्र से आने वाले व्यक्तियों की होगी थर्मल स्केनिंग रीवा 24 फरवरी 2021. चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास कैलाश सारंग की अध्यक्षता में जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक हुई। बैठक में बढ़ते कोरोना केसेस को देखते हुए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये। बैठक में सर्व-सम्मति से तय हुआ कि महाराष्ट्र से आने वाले व्यक्तियों की थर्मल स्केनिंग की जाये। थाना स्तर पर एसडीएम की अध्यक्षता में समाजसेवी और व्यापारियों की बैठक कर जन-जागरूकता के लिये आवश्यक कदम उठाये जायें। कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए धरना-प्रदर्शन पर भी रोक लगाने का निर्णय बैठक में लिया गया।
जिले में मेला स्थान पर कोरोना गाइड-लाइन का शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित कराया जाये। सभी बाजारों में दुकानदारों को मास्क लगाने की अनिवार्यता और सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन कराने के निर्देश भी दिये जायें। नगर निगम जन-जागरूकता के लिये रोको-टोको अभियान को पुन: शुरू करे और मास्क नही लगाने पर 100 रूपये का अर्थदण्ड लिया जाये। हाट-बाजारों में भी कोरोना गाइड-लाइन का पालन सुनिश्चित करवाया जाये।
क्रमांक-302-732-मिश्रा

कैफी सुल्तान की खबर
दूरदर्शन 24 न्यूज़
इंडिया क्राइम ब्यूरो संपादक

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

लाइव कैलेंडर

November 2021
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930  
error: Content is protected !!