Doordarshan24 News

Latest Online Breaking News

धूमधाम से मनाया गया आईरा का सातवां स्‍थापना दिवस 

 

 

कानपुर. भारत में पत्रकारों के सबसे विशाल संगठन All Indian Reporter’s Association (AIRA) का सातवां स्थापना दिवस शुक्रवार को जय भगवान गेस्‍ट हाउस, काकादेव में बहुत ही धूम धाम से मनाया गया। सातवें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित विचार गोष्‍ठी का आगाज़ दीप प्रज्जवलित कर किया गया। आईरा से जुड़े सैकड़ों पत्रकारों ने प्रसन्‍नतापूर्वक आईरा का स्‍थापना दिवस सेलीब्रेट किया .

 

 

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुये आईरा के राष्‍ट्रीय मुख्‍य महासचिव पुनीत निगम, राष्‍ट्रीय संगठन मंत्री योगेन्‍द्र अग्निहोत्री, प्रदेश महासचिव अविनाश श्रीवास्‍तव, प्रदेश उपाध्‍यक्ष उमेश शर्मा, प्रदेश प्रवक्‍ता फैसल हयात, आईरा सलाहकार समिति‍ के प्रदेश अध्‍यक्ष अजय श्रीवास्‍तव, प्रदेश सचिव गोपाल गुप्‍ता एवं डा. विपिन कुमार शुक्‍ला, प्रदेश संगठन मंत्री मोहम्‍मद नदीम, प्रदेश संयुक्‍त मंत्री संजय शर्मा, प्रदेश सलाहकार समिति के वरिष्ठ उपाध्यक्ष दीपक पाठक, प्रदेश अनुशासन परिषद के अध्‍यक्ष शीलू शुक्‍ला, मण्‍डल अध्‍यक्ष धर्मेन्‍द्र सिंह, जिलाध्‍यक्ष आशीष त्रिपाठी आदि वक्‍ताओं ने आईरा की स्‍थापना और उद्देश्‍यों के विषय में बताया और कहा कि मात्र 7 वर्ष में आईरा ने जो मुकाम हासिल किया है वो दूसरे संगठन 20 साल में भी नहीं हासिल कर पाते हैं। कहा कि आईरा एकलौता ऐसा संगठन है तो निस्‍वार्थ भाव से बगैर किसी लाभ की अपेक्षा के पत्रकारों के हित के लिये कार्य करता है। वक्‍ताओं ने पत्रकारों के हितों के लिए संगठन की मजबूती सम्‍बन्‍धी कई अहम सुझाव दिए।

 

 

 

इस अवसर पर बंगलुरू निवासी वरिष्‍ठ पत्रकार, समाजसेवी और आईरा के नेशनल चेयरमैन डा. तारिक ज़की जी ने फोन पर गोष्‍ठी को सम्‍बोधित किया और सभी आईरा सदस्‍यों को बधाई दी और आईरा की आगामी योजनाओं तथा कार्यक्रमों के विषय में जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन गोपाल गुप्‍ता ने किया। स्थापना दिवस के इस कार्यक्रम में आईरा से जुडे सैकडों पत्रकारों ने शिरकत की और अपनी एकता और आपसी प्रेम का परिचय दिया।

 

एम०आई०हाशमी इंडिया हेड दूरदर्शन 24 न्यूज

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

लाइव कैलेंडर

November 2021
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930  
error: Content is protected !!